Home festival गणेश चतुर्थी क्या है? यह क्यों मनाया जाता है? जानिए गणेश चतुर्थी...

गणेश चतुर्थी क्या है? यह क्यों मनाया जाता है? जानिए गणेश चतुर्थी से जुड़ी रोचक जानकारियां

SHARE

ॐ श्री गणेशाय नमः
हम हर साल गणेश चतुर्थी /Ganesh Chaturthi 10-दिवसीय महोत्सव का जश्न मनाते हैं। लेकिन हम में से कितने जानते हैं कि गणेश चतुर्थी / Ganesh Chaturthi क्या है और इसे क्यों मनाया जाता है?

Ganesh Chaturthi एक दस दिवसीय हिंदू त्योंहार है जो कि भगवान गणेश के जन्मदिन का सम्मान करने के लिए मनाया जाता है। वह भगवान शिव और देवी पार्वती के छोटे पुत्र हैं।Ganesh Chaturthi

गणेशजी 108 विभिन्न नामों से जाने जाते है और कला और विज्ञान का भगवान और बुद्धि का देव है। अनुष्ठानों और समारोहों की शुरुआत में उन्हें प्रथम भगवान के रूप में उनकी पुजा की जाती हैं । वह व्यापक रूप से और बहुमूल्य रूप से गणपति या विनायक के रूप में जाने जाते हैं।Ganesh Chaturthi

गणेश के जन्म के बारे में दो अलग-अलग विवरण हैं।एक यह है कि देवी पार्वती स्नान कर रही थी तब श्री गणेश को देवी पार्वती ने अपने शरीर के मैल के अंश से उत्पन्न किया और देवी पार्वती स्नान करने के दौरान उसे अपने दरवाजे की रक्षा करने के लिए स्थापित कर दिया। उसी समय भगवान शिव आये ,लेकिन गणेश को उसके बारे में नहीं पता था, तो उन्हे प्रवेश करने से रोक दिया। शिव को यह देखके क्रोधित हो गए और दोनों के बीच लड़ाई के बाद शिव ने बाल गणेश का सिर काट दिया।

जब देवी पार्वती स्नान करके बाहर आई तो देखा की गणेश का सिर कटा हुआ है ,देवी पार्वती बहुत क्रोधित हुई , पार्वती के अत्यधिक क्रोधित को देखने के बाद शिव ने पार्वती से वादा किया कि गणेश को फिर से जीवित करेंगे। शिव ने सभी देवताओं को आदेश दिया की जिस भी मृत व्यक्ति मिले उस का सिर को लगा के जीवित कर दिया जाय लेकिन देवताओ को किसी मृत व्यक्ति का सिर ना मिल के उन को एक मृत हाथी के बच्चे का सिर मिला ,और वही सर गणेश के लगा के उन को जीवित कर दिया।

दूसरा विवरण यह है की देवों के अनुरोध पर शिव और पार्वती द्वारा गणेश बनाया गया था,यह राक्षसों के रास्ते में विघ्नकार्ति (बाधा-निर्माता) था, और देवों की सहायता के लिए एक विघ्नहृत ।

गणेश चतुर्थी / Ganesh Chaturthi भाद्रपद शुक्ला चतुर्थी से शुरू होता है,महाराष्ट्र भव्य स्तर पर गणेश चतुर्थी समारोह के लिए जाना जाता है,त्योहार के दौरान, रंगीन पंडल (अस्थायी मंदिरों) की स्थापना की जाती है और भगवान की दस दिन पूजा की जाती है Ganesh Chaturthi .

त्योहार के दौरान यहां चार मुख्य अनुष्ठान हैं –
प्राणप्रतिष्ठा – गणेश मूर्तिस्थापना करने की प्रक्रिया,
शोदोशोपचार – गणेश को सम्मान देने के 16 रूप,
उत्तरपुजा- पूजा जिसके बाद मूर्ति को जलसेक(जलाभिषेक ) के बाद स्थानांतरित किया जा सकता है,
गणपति विसर्जन – नदी में मूर्ति का विसर्जन

Ganesh Chaturthi

यह त्योहार मराठा राजा शिवाजी के समय से सार्वजनिक कार्यक्रम के रूप में मनाया जाता था, लेकिन एक सार्वजनिक गणेश की मूर्ति पहले घोसाहेब लक्ष्मण जावले द्वारा स्थापित की गई थी।Ganesh Chaturthi

थाईलैंड, कंबोडिया, इंडोनेशिया, अफगानिस्तान, नेपाल और चीन में भी भगवान गणेश की पूजा की जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here